Breaking News

बुद्ध पूर्णिमा 2021: इस साल बनेंगे कई शुभ योग, जाने पूर्णिमा का समय और पूजा विधि

नई दिल्ली । इस साल 26 मई 2021 बुधवार को बुद्ध पूर्णिमा है. इस दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है. ऐसा माना जाता है कि भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी की पूजा करने से उनका आशीर्वाद मिलता है, घर में सुख शांति आती है और खुशहाली बनी रहती हैं. हिंदू मान्यताओं के अनुसार वैशाख माह की पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा कहा जाता है.


इस साल की बुद्ध पूर्णिमा खास है. इस बार की बुद्धपूर्णिमा में कई शुभ संयोग बन रहे हैं. बुद्ध पूर्णिमा के दिन शिव और सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है. बता दें कि 26 मई की रात 10:52 तक शिवयोग रहेगा, उसके बाद सर्वार्थ सिद्धि योग बनेगा. 25 मई मंगलवार को रात 8:29 से बुद्ध पूर्णिमा शुरू होगी और 26 मई बुधवार शाम 4:45 तक रहेगी.

यह भी पढ़े   NGT की सख्ती से 3 महीने बंद रहेंगे भट्टे, ईटों के दाम छू सकते है आसमान

जाने शुभ योग का समय

ब्रह्म मुहूर्त- 03:35 ए एम, मई 27 से 04:17 ए एम, मई 27 तक।
सर्वार्थ सिद्धि योग- 04:59 ए एम से 01:16 ए एम, मई 27 तक।
अमृत सिद्धि योग- 04:59 ए एम से 01:16 ए एम, मई 27 तक।

इस समय के दौरान अशुभ है पूजा-पाठ

राहुकाल- 11:45 ए एम से 01:27 पी एम तक।
भद्रा- 04:59 ए एम से 06:36 ए एम तक।

बुद्ध पूर्णिमा के दिन पूजा पाठ की विधि

  • सूर्योदय से पहले उठे और घर में साफ सफाई करें.
  • पानी में गंगा जल मिलाकर स्नान करें.
  • भगवान विष्णु का दीपक जलाएं.
  • घर के मुख्य द्वार पर रोली हल्दी या कुमकुम से स्वास्तिक बनाएं.
  • घर में गंगाजल का छिड़काव करें.
  • बोधि वृक्ष की जड़ों में दूध चढ़ाएं और दीपक भी जलाएं.
  • गरीबों को खाना व वस्त्र दें.
  • शाम को चंद्रमा को अर्घ्य दें.
यह भी पढ़े   परीक्षा में 100% अंक लाने पर भी युवती का नहीं हुआ सिलेक्शन, खटखटाया कोर्ट का दरवाजा

About Rohit Kumar