Breaking News

9 गोलियां लगने के बावजूद भी आतंकवादियों को मार गिराने वाले चेतन चीता आज वेंटिलेटर पर, दुआओं की दरकार

झज्जर । शांति काल में कीर्ति चक्र से सम्मानित सीआरपीएफ के कमांडेंट चेतन चीता को बाढ़सा स्थित एम्स के आईसीयू में वेंटिलेटर पर भर्ती कराया गया था.   बता दें कि कोरोना संक्रमण की वजह से एवं ऑक्सीजन लेवल में गिरावट होने की वजह से उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. 9 मई से उपचाराधीन चेतन चीता को एक दफा फिर से सभी दुआओं की जरूरत है.

कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ के समय चर्चा में आए थे चेतन चीता 

बता दे कि सीआरपीएफ का यह कमांडेंट उस समय चर्चा में आया था, जब 14 फरवरी 2017 को कश्मीर के बांदीपोरा में आतंकी  मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ में आतंकियों ने उन पर कई राउंड गोलियां फायर की. जिसमें से 9 गोली उनके शरीर में लगी थी. हिम्मत ना हारते हुए चेतन चीता ने भी आतंकियों पर कई राउंड फायर किए और उन्हें मुठभेड़ में मार गिराया. मुठभेड़ के दौरान वह बुरी तरह से जख्मी हो गए थे.

यह भी पढ़े   झज्जर में 4 इंच दीवार के विवाद में हुई फायरिंग, 3 लोग घायल, 2 की हालत गंभीर

जिसकी वजह से उनके हाथ,  पैर और कूल्हे,पेट में गोलियां लगने से काफी नुकसान हुआ था. इनके सिर और चेहरे पर भी छर्रे लगने के कारण दाहिनी आंख को नुकसान हुआ था. वह लंबे समय से एम्स में भर्ती रहे और डॉक्टरों की मेहनत रंग लाई. जैसे चेतन चीता ने पहले मौत को पटखनी देते हुए मात दी थी. उसमें तत्कालीन समय में हुई दुआओं का बड़ा असर रहा. ठीक वैसा ही समय एक बार फिर दोबारा से आ गया है.

यह भी पढ़े   प्रदेश के इन 5 जिलों में ईएसआई अस्पताल बनाएगी हरियाणा सरकार

जल्दी स्वस्थ होकर लौटेंगे जांबाज चेतन चीता – ओमप्रकाश धनखड़ 

बता दे कि दैनिक जागरण 5 जून शनिवार को विशेष तौर पर एक सर्व धर्म प्रार्थना सभा का आयोजन कर रहा है. जिस में दिवंगत हुए लोगों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. वही कोरोना से लड़ाई लड़ रहे योद्धाओं के लिए भी से कुशल उपचार की दुआ की जाएगी. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने भी चेतन चिता के हाल-चाल को लेकर बाढ़सा एम्स के चिकित्सकों से बातचीत की है. बाद में उन्होंने बताया कि नाम की तरह वे जांबाज और फाइटर है. साहस एवं वीरता का प्रतीक यह जांबाज जल्द ही कोरोना को मात देकर वापस लौटेगा.

About Monika Sharma