Breaking News

हरियाणा में लॉकडाउन पर फैसला कल, 16 से 5 हजार तक पहुंचा कोरोना मरीजों का आंकड़ा

चंडीगढ़ । हरियाणा में महामारी अलर्ट सुरक्षित लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जाएगा या सख्त कायदे कानूनों के साथ नियमों को ढिलाई दी जाएगी. इसका निधारण कल रविवार को होगा. हरियाणा में लॉकडाउन लगाने के इंपैक्ट नजर आने लगे हैं. जहां पहले रोजाना 16000 मरीज कोरोना पॉजिटिव मिल रहे थे, अब तीन हफ्तों बाद यह आंकड़ा घटकर 5000 के करीब रह गया है. 3 सप्ताह पहले अस्पतालों में ऑक्सीजन व बेड्स की भारी कमी थी. आज हरियाणा में नॉन ऑक्सीजन के 12 हजार 350, ऑक्सीजन के 7495 बेड्स खाली पड़े है. इसके इलावा आई सी यू के 873 बेड्स, वेंटीलेटर-304 खाली पड़े हैं. जो भारी राहत की खबर है.

जानिए क्या हरियाण मे बढ़ेगा लॉकडाउन

बता दे कि की हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बढ़ते कोरोना पॉजिटिव मामलों को देखते हुए हरियाणा में लॉकडाउन लगाने की वकालत की थी. हरियाणा में प्रतिदिन बढ़ते कोरोना मामलो को देखते हुए ही लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया था. बता दें कि पिछले सप्ताह जब लॉकडाउन का नाम बदलकर महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा, इसकी   जानकारी रात के करीब 10:00 बजे सार्वजनिक की गई थी.

यह भी पढ़े   22 साल के युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट में बताइ ये बड़ी वजह

अब हरियाणा के एक प्रभावशाली नेता जो सत्ता में है, वो लॉकडाउन को बढ़ाने के पक्ष में नहीं है. अबकी बार लॉकडाउन जारी रहता है या नहीं इस पर संशय बना हुआ है. सत्ता से जुड़े हुए नेताओं का इस पर क्या स्टैंड रहेगा इस पर सबकी निगाहें है. हरियाणा में प्रतिदिन पॉजिटिव रेट 8.62% है. जो कि सरकार की चिंता बढ़ा रही है. मेडिकल एक्सपर्ट भी मानते हैं कि 5% से ज्यादा पॉजिटिव दर की वजह से कभी भी री – स्प्रेडिंग दोबारा बढ़ सकती है.

यह भी पढ़े   सरकारी विभागों में किया जाएगा E-Vehicles का प्रयोग, योजना बना रही हरियाणा सरकार

स्वास्थ्य मंत्री रख रहे सभी घटनाओं पर बारीकी से नजर 

हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री अनिल विज पहले दिन से सभी घटनाओं पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं. महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के दौरान इसके सार्थक परिणाम आने से सरकार के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा भी पूरा मूल्यांकन किया जा रहा है.  शराब के ठेके बंद होने की वजह से राजस्व की कमी, रोडवेज में कई विभागों की व्यवस्था अस्त- व्यस्त हो गई है. अभी तक कोरोना महामारी से लड़ाई खत्म भी नहीं हुई है, वहीं दूसरी महामारी ने प्रदेश में दस्तक दे दी है. प्रदेश सरकार इसको लेकर पूरी तरह अलर्ट मोड पर है. सरकार द्वारा इसके लिए सभी प्रबंध करने अभी से शुरू कर दिए गए हैं.

About Monika Sharma