Breaking News

CM खट्टर के जनता दरबार में उद्यमियों ने लगाई गुहार, कहा- टिकरी बॉर्डर का रास्ता खुलवाइए

चंडीगढ़ । किसान आंदोलन के चलते पिछले करीब 8 महीने से बंद रास्तों को खुलवाने के लिए बहादुरगढ़ के उद्योगपति बुधवार को चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिले. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस से बातचीत कर जल्द ही हल निकालने का आश्वासन दिया है.

बीते 8 महीने से बंद है रस्ते

बता दें बुधवार को चंडीगढ़ में लगाए गए जनता दरबार में बहादुरगढ़ के उद्योगपति भी अपनी फरियाद लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास पहुंचे. उन्होंने मुख्यमंत्री से किसान आंदोलन के चलते बीते 8 महीने से टिकरी बॉर्डर पर बंद पड़े रास्तो को खुलवाने की गुहार लगाई. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस विषय में तुरंत प्रभाव से दिल्ली पुलिस से बात करके समाधान निकालने का आश्वासन दिया है.

यह भी पढ़े   NGT की सख्ती से 3 महीने बंद रहेंगे भट्टे, ईटों के दाम छू सकते है आसमान

हो चूका है 20 करोड से ज्यादा का नुकसान

उद्योगपतियों ने बताया प्रतिबंध होने के कारण हजारों लोगों की रोजगार पर बड़ा संकट पैदा हो गया है. उन्होंने कहा है कि बहादुरगढ़ की इंडस्ट्री बंद होने की कगार पर पहुंच गई है. उद्योग जगत को अब तक 20 करोड से ज्यादा का नुकसान हो चुका है. वहीं ट्रांसपोर्ट का खर्चा भी कई गुना बढ़ गया है. रास्ता बंद होने के कारण काफी सारी दिक्कतें हो गई है. जिससे उद्यमी श्रमिक सब परेशान हैं.

यह भी पढ़े   करनाल में आपस में टकराई दो हरियाणा रोडवेज बस, 10 से 12 लोग घायल

दिल्ली पुलिस ने बंद कर रखा है रास्ता

बीसीसीआई के वरिष्ठ उप प्रधान नरेंद्र चिकारा इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिख चुके हैं. किसान आंदोलन को लेकर 26 जनवरी के बाद दिल्ली पुलिस ने बहादुरगढ़-दिल्ली सीमा पर सीमेंट की दीवार के साथ बैरिकेडिंग कर रखी है. किसानों ने केवल एक तरफ मंच लगा रखा है लेकिन दिल्ली पुलिस ने दूसरी तरफ पक्की दीवारों कटीले तार लगाकर जमीन में गाड़ कर रास्ता स्थाई तौर पर बंद कर रखा है. उद्यमियों को उम्मीद है कि सरकार के दखल के बाद जल्द रास्ते खुलेंगे और हालात भी सामान्य होंगे.

About Rohit Kumar