Breaking News

किसान नेताओं की आज हुई प्रशासन के साथ बैठक रही बेनतीजा, सिरसा में देंगे धरना- किसान नेता

सिरसा : शनिवार के दिन प्रशासन की किसान नेताओं के साथ बैठक किसी अच्छे नतीजे पर नहीं पहुँच सकी. बैठक में किसान नेता राकेश टिकैत, जगजीत सिंह दलेवाल, बलदेव सिंह सिरसा सहित अनेक किसान नेता मौजूद थे. बैठक बेनतीजा रहने के बाद किसानों ने लघु लघु सचिवालय के मुख्य गेट पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है. दरअसल विधान सभा के उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा की गाडी पर पथराव के मामले में पांच किसानो क़ो आरोपी बनाकर राजद्रोह के तहत केस दर्ज किया गया था. अब इन पांच किसानो की रिहाई के लिए अनेको किसानो ने इनकी रिहाई के लिए विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है. इसी विषय में समझौता करने के लिए प्रशासन ने किसान नेताओं के साथ बैठक की परन्तु ये असफल रही.

वीडियो में नहीं दिखा किसने तोड़े शीशे

बैठक के बाद राकेश टिकैत जगजीत सिंह दलेवाल और बलदेव सिंह ने संयुक्त रूप से बताया कि गाड़ी पर हुई पत्थरबाजी किसी ने अपने आदमी भेज कर करवाई थी. प्रशासन द्वारा जो वीडियो दिखाई गई है उसमें शीशे किसने तोड़े हैं यह नहीं दिखाया गया है. बैठक के बाद संयुक्त रूप से कहा गया कि अब किसानों द्वारा पक्के मोर्चे लगा दिए जाएंगे जैसे दिल्ली में मोर्चा लगाया गया है उसी तरह से उत्साह में भी मोर्चा लगा दिया जाएगा यह भी किसान आंदोलन का एक हिस्सा है. उन्होंने कहा कि किसानों पर राजद्रोह का मुकदमा बनता ही नहीं है इसलिए मामले को रद्द कर जो किशन गिरफ्तार किए गए हैं उनको छोड़ देना चाहिये.

यह भी पढ़े   उपभोक्ता न्यायालय सिरसा में निकली 10th पास युवाओ के लिए बड़ी भर्ती, केवल इंटरव्यू पर होगा चयन

प्रशासन ने सतर्कता दिखाते हुए सिरसा में सुरक्षा बलो की अनेको कंपनियों क़ो बुला लिया था. जिसमे पुलिस की पांच, आर्म्ड पुलिस की चार, आईआरबी की चार और रैपिड एक्शन फाॅर्स की 10 कंपनियों क़ो बुलाकर तैनात कर दिया गया था.

प्रशाशन द्वारा पहले ही कर ली गई थीं तैयारियां

शुक्रवार शाम क़ो ही रैपिड एक्शन फ़ोर्स की चार और महिला पुलिस की तीन कम्पनियाँ सिरसा में तैनात कर दी गयी. साथ ही लघु सचिवालय के आसपास के सभी इलाकों क़ो पूरी तरह से बंद कर दिया गया है.पूरे इलाके में ड्रोन से नज़र रखी जा रही है. पुलिस वालो की सभी छुट्टिया रद्द कर दीं गई है.परन्तु इन सभी सुरक्षा के बावजूद किसान संगठन अपने पांच किसान नेताओं की रिहाई की मांग को लेकर अड़े हुए है.

यह भी पढ़े   राकेश टिकैत को धमकी देने वाले इंजीनियर को किया पुलिस ने दबोचा, ये बताया कारण

एक दिन पहले ही लघु सचिवालय में उपायुक्त अनीश यादव, एडीसी उत्तम सिंह, पुलिस अधीक्षक अर्पित जैन की किसान नेताओं हैप्पी रानिया, बलवंत सिंह, गुरप्रेमदेसू जोधा, मैक्स साहूवाला, लखविंदर सिंह औलख के साथ बैठक हुई जिसमें किसानो ने उन्हें बताया कि 11 जुलाई के दिन किसान अत्यंत शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे थे. परन्तु पुलिस ने बिना किसी वजह के किसान नेताओं पर राजद्रोह की धारा लगा दी और बाकी किसानो क़ो पुलिस अधिकारियो द्वारा कोई जवाब नहीं मिल पा रहा है.

जब प्रशासन के अधिकारियो ने किसानो क़ो शहीद भगत सिंह स्टेडियम की बजाये दशहरा ग्राउंड और ग्लोबल सिटी स्पेस में भीड़ इक्कठा करने के लिए कहा. इसपर किसान नेताओं ने कहा कि ये संयुक्त किसान मोर्चा के निर्देश पर किया जा रहा है और सभी किसानो क़ो शहीद भगत सिंह स्टेडियम में ही बुलाया गया है परन्तु दशहरा ग्राउंड में प्रदर्शनकारी किसान अपने वाहन क़ो खडा कर सकते है लेकिन एसपी कार्यालय के घेराव का फैसला किसी भी हाल में नहीं टाला जायेगा.

 

About Rakesh Kumar