Breaking News

पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने मोदी सरकार के खिलाफ एक बार फिर से दिखाए तीखे तेवर

सोनीपत । शिक्षक घोटाले मामले में कुछ दिन पहले जेल से जेल से बाहर आए इंडियन नेशनल लोकदल के नेता व हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने मोदी सरकार के खिलाफ एक बार फिर से तीखे तेवर दिखाए हैं. उन्होंने कल सिंधु बॉर्डर पर पहुंचकर कहा कि गुरुवार को विपक्षी सांसद संसद का घेराव करेंगे धरना देंगे और सांसद जाकर किसान विरोधी काले कानूनों का विरोध करेंगे.

सरकार को मजबूरन होकर कानून वापस लेने पड़ेंगे

ऐसे वह उन्होंने कहा कि सांसद ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि सरकार को मजबूरन होकर कानून वापस लेने पड़ेंगे. जेल से रिहाई होने के बाद भी ओम प्रकाश चौटाला पूरी तरह फॉर्म में लौट आए हैं. बुधवार को ओम प्रकाश चौटाला दिल्ली हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे जहां उन्होंने कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन में शिरकत की.

यह भी पढ़े   1 जून से बदल रहे है आपके जीवन से जुड़े बैंक और गैस सिलेंडरों के ये नियम, जाने

बनाई गई आगे की रणनीति

ओम प्रकाश चौटाला ने यहां पर प्रदर्शनकारी किसानों से बातचीत की और किसान आंदोलन को हवा देते हुए तीन कृषि कानूनों को लेकर सरकार के खिलाफ किसानों से आगे की रणनीति पर विचार विमर्श किया. वही चौटाला ने कहा कि वह किसान आंदोलन में कोई भी राजनीतिक भाषण देने नहीं आए हैं, बल्कि वह इस आंदोलन के लिए बधाई देने और खुशी के लड्डू खिलाने आए हैं. उन्होंने साथ ही दावा किया कि संघर्ष इसी तरह चलता रहेगा तो निश्चित रूप से तीनों किसी कानून वापस लिए जाएंगे. इससे पहले भी मंगलवार को ओम प्रकाश चौटाला गाजीपुर बॉर्डर भी पहुंचे थे. यहां पर उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से मुलाकात की थी.

यह भी पढ़े   छत्रसाल स्टेडियम में फिर होगा सीन रीक्रिएशन, अगर इस बार पुलिस होगी साथ

जूनियर बेसिक शिक्षकों की भर्ती मामले में हुई थी सजा

जानकारी के लिए बता दें हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और उनके बेटे व कई अन्य लोगों को साल 2000 में 3 हजार से ज्यादा जूनियर बेसिक शिक्षकों की गैरकानूनी तरीके से भर्ती करने के मामले में दोषी पाया गया था औरहरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला को 10 साल की सजा सुनाई थी. हरियाणा सरकार ने अपने एक आदेश में कहा था कि जिन कैदियों ने अपनी 10 साल की सजा के साडे 9 साल पूरे कर लिए उन्हें 6 महीने के लिए छूट देकर जेल से रिहा किया जाएगा.

About Rohit Kumar