Breaking News

हरियाणा के डिप्टी सीएम के जीजा से धोखाधड़ी जानिए, क्या है पूरा मामला

पानीपत । हरियाणा के डिप्टी सीएम श्री दुष्यंत चौटाला के जीजा देवेंद्र कादियान ने मध्यप्रदेश के होशंगाबाद निवासी पिता-पुत्र पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है. देवेंद्र कदियान विधानसभा के पूर्व स्पीकर चौधरी सतवीर सिंह कादियान के पुत्र हैं. मध्य प्रदेश के होशंगाबाद के सेक्टर 29 थाने में यह केस दर्ज कराया गया है. आरोप लगाया गया है कि सौदा होने के बाद पिता-पुत्र ने प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री नहीं की और ना ही पूरी रकम वापस की. बल्कि बाकी 75 लाख रुपए मांगने पर जान से हाथ धोने की धमकी देने का आरोप भी लगाया.

वहीं आरोपी पक्ष ने बताया कि यह मामला प्रॉपर्टी का नहीं है. उन्होंने बताया कि देवेंद्र कादियान ने उनके साथ उत्तर प्रदेश के बागपत में बालू खदान के काम में हिस्सेदारी की थी. आगे चलकर इस व्यवसाय में घाटा हुआ और उनके खिलाफ जानबूझकर झूठा केस दर्ज करवाया गया.गौरतलब है कि देवेंद्र कादियान जेजेपी की टिकट से विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुके हैं. देवेंद्र कादियान ने आर्थिक अपराध शाखा को जो शिकायत दी है उसके अनुसार बताया गया है कि वह शिवाह के पास स्थित इंफ़्रा के मालिक हैं. उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि एमपी के होशंगाबाद जिले की पिपरिया तहसील निवासी अजीत सिंह मल्होत्रा और उनके बेटे रसमीत सिंह मल्होत्रा ने उनके साथ धोखाधड़ी की है.

यह भी पढ़े   यमुनानगर में तीन युवतियों ने बुजुर्ग के कपड़े उतरवाकर बनाया वीडियो, ब्लैकमेल कर ₹5 लाख मांगे

दोनों पिता-पुत्र ने दिल्ली के वसंत कुंज में अपनी जमीन बताई और कहा कि उनकी इच्छा इस जमीन को बेचने की है. देवेंद्र कादियान के साथ उन्होंने यह सौदा 2 करोड़ रूपए में किया. देवेंद्र ने यह रकम बेचने वालों के अकाउंट में 5 बार करके जमा करवा दी.अब आरोप लगाया गया है कि पिता-पुत्र ने अब तक उनके नाम जमीन की रजिस्ट्री नहीं की. यहां तक कि जब उन्होंने अपने रुपए मांगने की कोशिश की तो उन्हें 5 बार में 1.25 करोड़ रुपए वापस किए गए. बाकी 75 लाख रुपए नहीं दिए. इसके अलावा दोनों ने देवेंद्र कादयान को जान से मारने की धमकी भी दी.

मामला प्रॉपर्टी का नहीं बालू खदान में हिस्सेदारी का है-आरोपी पक्ष

वही इस बारे में आरोपी पक्ष की तरफ से रसमीत सिंह ने बताया कि यह मामला प्रॉपर्टी का है ही नहीं. उनके पास दिल्ली वसंत कुंज में कोई प्रॉपर्टी नहीं है. जसमीत सिंह के अनुसार देवेंद्र कादियान के साथ उनकी उत्तर प्रदेश के बागपत में बालू खदान में हिस्सेदारी थी, जिसकी एवज में ही 2 करोड रुपए खर्च हुए थे.
लॉकडाउन के चलते इस व्यापार में घाटा हुआ. 1.25 करोड़ रुपए वापस हुए लेकिन 75 लाख का घाटा हुआ. अब इसी की आड़ में देवेंद्र कादियान ने धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है. उन्होंने कहा कि उनके पास दोनों पक्षों की बातचीत की कॉल रिकॉर्डिंग भी है, जो दूध का दूध और पानी का पानी कर देगी.

यह भी पढ़े   अंबाला की महिला ने भोपाल में विधायक के बंगले में लगाई फांसी, एक को छोड़ा ,एक ने छोड़ दिया, तीसरे के चक्कर में गवाई जान

क्या कहना है देवेंद्र कादियान का

इस पूरे प्रकरण पर देवेंद्र कादियान ने बताया कि दोनों पिता-पुत्र ने जमीन बेचने की बात कह कर उनसे ₹2करोड़ रूपये लिए. लेकिन वह जमीन किसी और के नाम थी. अब जब उनसे वापस रुपए मांगे गए तो उन्होंने बागपत की खदान में हिस्सेदारी की बात कही. उन्होंने हां कर दी, लेकिन वहां अभी खुदाई पर रोक लगाई गई है. ऐसे में यह हिस्सेदारी भी फर्जी थी. आगे उन्होंने दोनों पिता-पुत्र पर आरोप लगाया कि उन्होंने इस खदान को पांच पांच बार भेज रखा है.

About Rohit Kumar