Breaking News

राज्यों मे नौकरियों की रिजर्वेशन प्रक्रिया में संशोधन, जानें नए नियम

नई दिल्ली । प्रदेश सरकार में एक्स सर्विसमैन की राज्य की नौकरियों की रिजर्वेशन पॉलिसी में संशोधन किया है. बता दे कि यदि कोई एक्स सर्विसमैन रिटायरमेंट के बाद राज्य सरकार की नौकरी ज्वाइन करता है उसके बच्चों को रिजर्वेशन पॉलिसी का फायदा नहीं मिलेगा. एक्स सर्विसमैन ने खुद रिजर्वेशन का फायदा लिया हो या ना लिया हो. इस प्रकार से शहीद  के बच्चों को भी इस पॉलिसी का फायदा नहीं दिया जाएगा.

तर्क दिया गया कि शहीद के परिवार के किसी सदस्य को कंपेसनेट अपॉइंटमेंट पॉलिसी का फायदा मिल जाता है. निर्देश मुख्य सचिव की ओर से जारी किए गए. इसमें कहा गया कि यदि एक्स सर्विसमैन खुद नौकरी पा लेता है तो उसे हाई पे स्केल नई नौकरी में जाने के लिए सिर्फ उम्र में छूट मिलेगी बाकी रिजर्वेशन का लाभ नहीं होगा. यदि एक्स सर्विसमैन योग्य होते हुए भी दोबारा नौकरी नहीं करता तो उसके एक ही बच्चे को रिजर्वेशन का फायदा मिलेगा.

यह भी पढ़े   भारतीय वायुसेना दिल्ली में दसवीं पास के लिए मेस स्टाफ के पदों पर सीधी भर्ती, ऐसे करें आवेदन

ऐसे मिलेगा फायदा- जानिए… किसे माना जाएगा दिव्यांग

प्रदेश में नौकरियों में एक्स-सर्विसमैन रिजर्वेशन में दिव्यांग एक्स सर्विसमैन को प्राथमिकता दी जाएगी. यदि कोई दिव्यांग आवेदन नहीं करता है तो दिव्यांग के बच्चों को प्राथमिकता मिलेगा. यदि इस कैटेगिरी में भी कोई नहीं आता है तो एक्स-सर्विसमैन और यदि एक्स-सर्विसमैन भी नहीं है, तो उनके बच्चों को रिजर्वेशन पॉलिसी का फायदा मिलेगा. दिव्यांग एक्स सर्विसमैन को उसके योग्य ही नौकरी मिलेगी. दिव्यांग भी उसे ही माना जाएगा, जो सेना में रहते हुए दिव्यांग हुआ है.

यह भी पढ़े   यमुनानगर में निकली डाटा एंट्री ऑपरेटर के पदों पर भर्ती, केवल इंटरव्यू से मिलेगी नौकरी

यदि किसी को दुर्व्यवहार या अन्य किसी वजह से सेना से निकाला गया है तो उसे एक्स सर्विसमैन नहीं माना जाएगा. न तो उसे और न ही उसके बच्चों को एक्स-सर्विसमैन रिजर्वेशन पॉलिसी का फायदा मिलेगा

About Monika Sharma