Breaking News

50 मामलों के साथ ये जिला बना ब्लैक फंगस का हॉट स्पॉट, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

गुरुग्राम । हरियाणा में कोरोनावायरस के मामले तो कुछ कम होते नजर आ रहे हैं, लेकिन ब्लैक फंगस अब धीरे-धीरे हरियाणा में पांव पसारता नजर आता है. गुरुग्राम में ब्लैक फंगस के कई मामले सामने आए हैं, जो स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के लिए परेशानी का सबब बन चुके हैं. स्वास्थ्य विभाग की माने तो अब तक गुरुग्राम में 50 मामले ब्लैक फंगस के आ चुके हैं और करीब 50 मरीजों ने इस बीमारी से पीड़ित होने की आशंका जताई है.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि ब्लैक फंगस से संक्रमित होने की आशंका कोरोना से ठीक हुए मरीजों में ज्यादा पाई जा रही है. पिछली कोरोना लहर में भी ब्लैक फंगस के कुछ मामले सामने आए थे. लेकिन कोरोना की इस दूसरी लहर में ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है. स्वास्थ्य विभाग की माने तो पिछले चार-पांच दिनों से इनकी संख्या में तेजी से वृद्धि भी हुई है.

यह भी पढ़े   हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, अघोषित बिजली कट लगने पर SDO, JE और शिफ्ट इंचार्ज होंगे चार्जशीट

अधिकारियों ने बताया कि ब्लैक फंगस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली एंटीफंगल दवा एंफोटेरीसिन बी की फिलहाल कमी चल रही है, जिससे निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने सभी अस्पतालों को दवा उपलब्ध कराने के लिए समिति का गठन किया जा चुका है.

अत्यधिक स्टेरॉयड के इस्तेमाल से बढे हैं मामले

सीएमओ डॉ वीरेंद्र यादव ने बताया कि गुरुग्राम में ब्लैक फंगस के 50 मामले आए हैं. एहतियात के तौर पर सभी अस्पतालों को ब्लैक फंगस से संबंधित सभी मरीजों का डाटा उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया गया है. एक समिति का गठन भी किया गया है. अस्पताल एंफोटेरीसिन बी इंजेक्शन मांगने वाले पैनल पर सीधे अप्लाई कर सकते हैं. गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल के डॉक्टर ने बताया यह संक्रमण ज्यादातर मधुमेह वाले रोगियों में ज्यादा पाया जा रहा है, क्योंकि इन रोगियों में रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है. जब ऐसे मरीजों का कोरोना संक्रमण का इलाज किया जाता है, तो उन्हें स्टेरॉयड दिया जाता है, जो रोगी की रोग प्रतिरोधी क्षमता को कम करता है. इसीलिए इन मरीजों में संक्रमण ब्लैक फंगस के संक्रमण का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है.

यह भी पढ़े   हरियाणा में मुख्यमंत्री खट्टर पर FIR की आंच, कोविड नियम तोड़ने पर डीसी को लीगल नोटिस जारी

About Rohit Kumar