Breaking News

बेटी की शादी के लिए हरियाणा सरकार दे रही है 51 हजार, इस तरह उठाए योजना का लाभ

रोहतक । हरियाणा सरकार द्वारा बेटियों की शादी के लिए आर्थिक मदद मुहैया करवाई जा रही है. बता दें कि मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना के तहत ₹51000 तक की राशि की मदद का प्रावधान है. इस योजना का लाभ उठाने के लिए बेटी की उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए. वही लड़के की उम्र 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए.इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

ये लोग उठा सकते है योजना का लाभ 

योजना के तहत अनुसूचित जाति, विमुक्त जाति एवं टपरिवास जाति के बीपीएल परिवारों को लड़की की शादी के लिए ₹51000 की सहायता राशि दी जाती है. बता दें कि अनुसूचित जाति, विमुक्त जातियां,  टपरिवास जाति का व्यक्ति यदि बीपीएल नहीं है तो उन की वार्षिक आय ₹100000 से कम या ढाई एकड़ से कम जमीन है, तो लड़की की शादी में ₹11000 की सहायता राशि दी जाती है. वही इस योजना के तहत सामान्य वर्ग के बीपीएल परिवार को बेटी की शादी के लिए ₹11000 की सहायता राशि दी जाती है.

यह भी पढ़े   आम आदमी भी खरीद पाएंगे AC, सरकार ला रही है नई योजना

सभी वर्गों की विधवा महिला, ओरफन बीपीएल जिनकी वार्षिक आय ₹100000 से कम या ढाई एकड़ से कम जमीन हो,  उनकी बेटी की शादी के लिए ₹51000 की सहायता राशि दी जाती है. बता दे कि किसी भी जाति एवं बिना  आय निर्धारण के महिला खिलाड़ी को भी स्वयं की शादी के लिए ₹31000 की सहायता राशि प्रदान की जाती है. सभी जातियों के सामूहिक विवाह समारोह में विवाह करने वाले दूल्हा दुल्हन को ₹51000 की सहायता योजना के तहत प्रदान की जाती है.

यह भी पढ़े   वेरका और मदर डेयरी के बाद अब वीटा ने भी बढ़ाए दूध के दाम

इन दस्तावेजों की आवश्यकता

इस योजना का लाभ उठाने के लिए लड़की का जन्म प्रमाण पत्र या स्कूल की मार्कशीट, लड़के का जन्म प्रमाण पत्र या स्कूल की मार्कशीट, लड़की के परिवार का राशन कार्ड, लड़की के माता या पिता के बैंक की पासबुक,आधार कार्ड, रिहायशी प्रमाण पत्र,बीपीएल संख्या, यदि लड़की के माता-पिता जीवित नहीं है तो उनकी मृत्यु प्रमाण पत्र, लड़की का आधार कार्ड, लड़के और लड़की का एक एक पासपोर्ट साइज फोटो, राशन कार्ड, यदि राशन कार्ड बीपीएल नहीं है तो आय प्रमाण पत्र या ढाई एकड़ से कम जमीन का प्रमाण पत्र, शादी का कार्ड आदि.

About Monika Sharma