Breaking News

हरियाणा कृषि मौसम विभाग ने मौसम को लेकर जारी किया पूर्वानुमान, फसलों में बरतें ये सावधानी

हिसार । कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष चौधरी चरण सिंह ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से अधिक ऊंचाई वाली पश्चिमी हवाओं के चलने से बंगाल की तरफ से नमी वाली पुरवाई मानसून हवाओं की सक्रियता कम हो गई है. जिसकी वजह से मानसून कम सक्रिय है. मानसूनी हवाओं के हरियाणा की तरफ आगे बढ़ने के लिए अनुकूल मौसम परिस्थितिया न बनने और मॉनसून पर उत्तर में ऊपर हिमालय की तरफ बढ़ने की संभावना की वजह से आने वाले चार-पांच दिनों में मानसून सक्रिय नहीं होगा. 25 जून तक मौसम परिवर्तनशील व खुश्क बना रहेगा. बीच में कुछ क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है.

यह भी पढ़े   इन जिलों में देर रात से बारिश व तेज आंधी जारी, आज भी बारिश की संभावना

मौसम आधारित कृषि सलाह

  • मौसम में नमी की अधिकता व बादल वाई की वजह से अगेती नरमा/ कपास व सब्जियों की फसल में कीड़े लग सकते हैं किसानों को ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है.
  • सब्जियों के खेतों में आवश्यकता अनुसार निराई,गुड़ाई करके नमी संचित रखी जाए.
  • ग्वार, बाजरा व अन्य खरीफ फसलों के लिए खेत तैयार कर उत्तम किस्म के बीजों का प्रबंध शुरू किया जाए.
  • धान की नर्सरी में आवश्यकतानुसार सिंचाई व खाद प्रबंधन अवश्य करें.
  • वहीं धान में बकानी रोग से बचाव के लिए पनीरी को उखाड़ने से 7 दिन पहले 250 ग्राम कार्बोडाजिम प्रति आधा कनाल नर्सरी क्षेत्र में रेत में मिलाकर पनीरी में 1 साथ बिखर दे.
यह भी पढ़े   हरियाणा में 10 दिन की देरी के साथ मानसून देगा दस्तक, इस दिन होगी बारिश

About Monika Sharma