Breaking News

लगातार बदल रही है हवाओं की दिशा, आज बरसात नहीं हुई तो करना पड़ेगा लंबा इंतजार

करनाल । लगातार हवाई अपना रुख बदल रही है, जिसकी वजह से हवाओं की दिशा ने मानसून की बरसात  को शंका में डाल दिया है. बता दे कि जून महीने में कम बरसात हुई थी. जुलाई महीने का पहला पखवाड़ा भी सूखा ही बीत रहा है. पूरे प्रदेश में जुलाई महीने में अब तक 45.4 एमएम बरसात होनी चाहिए थी, लेकिन अभी तक मात्र 8.9 एमएम ही बारिश हो पाई है. तकरीबन सामान्य से 80 फ़ीसदी कम बरसात दर्ज की गई है. प्रदेश में सूखे जैसे हालात पैदा हो गए है.

यह भी पढ़े   हरियाणा में जल्द मिलेगी गर्मी से राहत, इन दो दिनों में होगी बारिश

लगातार बदलते हवाओं के रुख के कारण मानसून में देरी 

बता दे कि बरसात की कमी की वजह से उत्तर पश्चिमी भारत शुष्क बना हुआ है. प्रदेश का महज मेवात ही एक ऐसा जिला है, जहां सामान्य से अधिक बरसात हुई है. बाकी सभी जगहों पर सूखा है. जिसकी वजह से धान की रोपाई भी नहीं हो पा रही है. किसान परेशान है हर रोज बस बरसात का इंतजार कर रहे हैं. मौसम विभाग में 13 जुलाई तक मानसून की अच्छी बरसात की संभावना जताई थी, लेकिन परिस्थितियां उसके विपरीत हो गई है.

यह भी पढ़े   आज हरियाणा के इन जिलों में हीट वेव की चेतावनी, 47 डिग्री तक जाएगा तापमान

सोमवार शाम तक यदि बरसात नहीं होती, तो लोगों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है, यानी बरसात का इंतजार और भी लंबा हो सकता है. मेवात में 12 जुलाई तक 16. 3 एमएम बरसात होनी चाहिए थी. लेकिन यहां ताबड़तोड़ 89 एमएम बरसात दर्ज की गई है. जो सामान्य से 446 फीसद ज्यादा है. बाकी जिलों में सूखे के हालात बने हुए हैं.

About Monika Sharma