Breaking News

जुलाई में पूरी होगी बारिश की कमी, 7 से 9 जुलाई को होगी तेज बरसात

करनाल । मौसम विभाग ने दक्षिण पश्चिम मानसून 2021 के जुलाई महीने को लेकर पूर्वानुमान जारी किया है. संभावना जताई जा रही है कि जुलाई महीने में औसत बरसात हो सकती है. इसका आंकड़ा 94 से 106% तक जा सकता है. वही गंगा के मैदानी क्षेत्रों में मानसून की बरसात सामान्य से अधिक होने की संभावना जताई जा रही है.

उत्तरी राज्यों में जल्द पूरी होगी बारिश की कमी

बता दें कि उत्तर उत्तर पश्चिमी भारत में सामान्य से नीचे बरसात होने की संभावना है. मध्य भारत के हिस्सों और तटवर्ती प्रायद्वीप और गंगा के मैदानों में सामान्य से लेकर सामान्य से अधिक बरसात संभव है. वही मानसून के अभी तक ओवरआल प्रदर्शन ने निराश नहीं किया है. उत्तर के कुछ राज्यों में अवश्य ही कम बारिश हुई है. संभावना है कि बारिश की कमी जुलाई महीने में पूरी हो पाएगी.

यह भी पढ़े   करनाल में लोन के लिए महिलाओं से दो-दो हजार रुपए लेकर कंपनी रफूचक्कर

इस समय एक टर्फ रेखा उत्तर पश्चिमी राजस्थान से पूर्वी असम तक हरियाणा, उत्तर प्रदेश,बिहार और उप हिमालय, पश्चिम बंगाल होते हुए जा रही है. उत्तरी पाकिस्तान पर एक चक्रवर्ती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. एक और चक्रवात के कारण हवाओं का क्षेत्र उत्तरी पश्चिमी मध्य प्रदेश के ऊपर है. बड़ी निचले स्तर में एक चक्रवर्ती परिसंचरण तमिलनाडु दक्षिणी तट पर बना हुआ है. 7 से 9 जुलाई को हरियाणा में जमकर बरसात होगी, जिसकी वजह से हरियाणा वासियों को गर्मी से राहत मिलेगी.

यह भी पढ़े   Haryana Weather Update : हरियाणा में 29 मई तक ऐसा रहेगा अब मौसम, शुरू हुआ नौतपा

About Monika Sharma