Breaking News

कोविशील्ड की दो डोज के अंतर को बढ़ाया गया, अब 12 से 16 हफ्तों का होगा अंतर

चंडीगढ़ । सरकार ने कोविशील्ड  की दो डोज के बीच के अंतर को बढ़ा दिया है. पहले दोनों डोजों के बीच 6 से 8 सप्ताह का अंतर हुआ करता था . अब सरकार ने इसे बढ़ाकर 12 से 16 हफ्ते का कर दिया है. हेल्थ मिनिस्ट्री ने गुरुवार को यह जानकारी साझा करते हुए बताया. वहीं इसी संबंध में नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन के कोविड-19 वर्किंग ग्रुप ने सिफारिश की थी. हालांकि कोवैक्सीन कि दोनों डोजों के बीच के अंतर में कोई भी बदलाव नहीं किया गया.

कोविशिल्ड की 2 डोज के बीच अंतर को बढ़ाया गया

हेल्थ मिनिस्ट्री ने बताया कि नए प्रमाणो, ब्रिटेन से मिले डाटा के आधार पर कोविड-19 वर्किंग ग्रुप ने दोनों डोज के बीच अंतर बढ़ाने की सिफारिश की, बता दे कि वर्किंग ग्रुप की सिफारिश को नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पोल की अगुवाई वाले नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप ऑन वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन फॉर कोविड-19 द्वारा मंजूरी दे दी गई. नीति आयोग के सदस्य वी के पोल ने बताया कि ब्रिटेन द्वारा पहले ही इस अंतर को बढ़ाकर 12 हफ्ते किया जा चुका है. डब्ल्यूएचओ ने भी ऐसी ही सिफारिश की थी, लेकिन कई देशों ने ऐसा नहीं किया. क्योंकि पहले ऐसा माना जा रहा था कि अंतर ज्यादा होने से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है. लेकिन अब हमें मिले परमाणो और ब्रिटेन से प्राप्त डांटे से यह भरोसा मिला है कि ऐसा कोई खतरा नहीं होगा.

यह भी पढ़े   ब्लैक फंगस का कहर: झज्जर में एक साथ तीन और फतेहाबाद में एक और मौत से मचा हड़कंप

प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए जारी की गई जरूरी सूचना

इसके साथ ही एक जरूरी जानकारी भी जारी की गई, जिसमें प्रेग्नेंट महिलाओं के वैक्सीनेशन के बारे में बताया गया. प्रेग्नेंट महिलाओं को भी कोविड-19 का कोई भी टीका लगवाने का विकल्प दिया जा सकता है. साथ ही फिडिग करवाने वाली महिलाएं बच्चे को जन्म देने के बाद कभी भी वैक्सीन लगवा सकती हैं. पहली डोज के बाद पॉजिटिव पाए गए लोगों को ठीक होने के 4 से 8 हफ्तों के बाद भी दूसरे डोज दी जाए.

यह भी पढ़े   लॉकडाउन में बसों को सवारिया ना मिलने से रोडवेज को रोज़ लाखों का नुकसान

About Monika Sharma

Leave a Reply

Your email address will not be published.