Breaking News

हरियाणा में दलित महिला को 9 दिन तक बनाया बंधक, फिर किया गैंगरेप, दरिंदगी में पुलिस वाला भी शामिल

गुरुग्राम : हरियाणा के गुरुग्राम में एक बार फिर खाकी शर्मसार हुई है. यहां पुलिस ने एक 20 वर्षीय दलित महिला को 9 दिनों तक बंदी बनाकर रखा और बलात्कार किया. हैरानी की बात यह है कि आरोपियों में से एक पुलिस वाला भी है. वहीं इस मामले में एक अन्य व्यक्ति द्वारा यह भी आरोप लगाया गया है कि जब उसने महिला की शिकायत दर्ज कराने में मदद की तो कुछ लोगों ने उसकी पिटाई भी की.

दिए गए बेहोशी के इंजेक्शन

इस मामले में पीड़ित महिला द्वारा आरोप लगाया गया है कि वह ज्यादा समय तक बेहोश रही थी क्योंकि एक पुलिस कांस्टेबल सहित अन्य आरोपियों से नशीले इंजेक्शन दे दिए थे. वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि विवाहित महिला और संदिग्धों को जानती है जो सोहना के पास एक गांव के रहने वाले थे.

यह भी पढ़े   सुशील कुमार-सावी की अनोखी लव स्टोरी, शादी से पहले नहीं कह पाए 'आई लव यू'

पुलिस ने बताया कि पीड़ित महिला एक परिचित से बात कर रही थी तभी उसके दो दोस्त 30 जून को एक कार से आए और उसे लेकर फरीदाबाद के बल्लभगढ़ की तरफ चले गए. वह जाकर एक कमरे में ले जाकर उसके साथ बार-बार दुराचार किया गया. 8 जुलाई को पीड़ित महिला को बल्लभगढ़ बस स्टैंड पर छोड़ दिया गया. किसी तरह वह अपने परिवार तक पहुंची पाई और 10 जुलाई को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.इस मामले में पुलिस ने बलात्कार अपहरण और एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है फिलहाल आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है.

यह भी पढ़े   हरियाणा में 13,800 गेस्ट व एडहॉक शिक्षकों को सरकार ने दिया बड़ा झटका, जाने क्या

About Rakesh Kumar