Breaking News

खोरी गांव में बुलाई महापंचायत से पहले बवाल, पुलिस ने भांजी लाठियां, लोगों ने किया पथराव

फरीदाबाद । हरियाणा के फरीदाबाद के खोरी गांव में पुनर्वास की मांग को लेकर अंबेडकर पार्क में बुधवार को महापंचायत होने वाली थी, लेकिन उससे पहले वहां पुलिस और लोगों के बीच जमकर संघर्ष हुआ. यहां पर जमकर लाठीचार्ज और पथराव हुआ. बता दें कि इस संघर्ष के दौरान कई लोग घायल हो गए. वहीं इस मामले में सूरजकुंड थाना पुलिस ने 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक घटना की वीडियो बनाई गई है. इसके आधार पर उपद्रव में शामिल लोगों की पहचान करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस और गांव वालों में हुआ जमकर संघर्ष

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने खोरी गांव को 6 हफते के अंदर खाली कराने के आदेश दिए है. जिसके बाद जिला प्रशासन अपनी तैयारियों में लगा हुआ है. इसी बीच बुधवार को खोरी गांव के लोगों के द्वारा एक महापंचायत का आयोजन किया गया. इस पंचायत में किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी को भी शामिल होना था. इस पंचायत को देखते हुए पुलिस पूरी तरह अलर्ट मोड पर थी. उन्होंने सूरज कुंड रोड पर लोगों का आना जाना प्रतिबंधित कर दिया था.

यह भी पढ़े   दुखद हादसा : 5 साल के बच्चे को कुत्तों ने बनाया अपना शिकार, मौके पर हुई मौत

वहीं इसी बीच महापंचायत स्थल पर लोगों ने एकजुट होना शुरू कर दिया. ऐसे मे भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. जिसकी वजह से लोग भड़क गए उन्होंने पथराव शुरू कर दिया. इस संघर्ष मे चढूनी ने कहा कि अधिकारियों ने इलाके में बिजली व पेयजल आपूर्ति बंद कर दी है. उन्होंने बताया कि एक लाख लोग एक दिन में वहां नहीं बस गए हैं. वे लोग चार दशकों से यहां पर रह रहे हैं. चढूनी ने कहा कि उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए,  जिन्होंने सालों तक उन्हें बसने दिया. जब लोग वहां बस रहे थे तो सरकार ने अपनी आंखें क्यों बंद कर रखी थी.

यह भी पढ़े   रेहड़ी वालों की गुंडागर्दी, सरेआम दुकानदार व एक महिला पर बरसाए लठ, कपड़े भी फाड़े

About Monika Sharma