Breaking News

पीएम सम्मान किसान निधि में किसान दंपतियों के अलग-अलग राशि पर खीचेगा सरकार का शिकंजा

रोहतक । सरकार द्वारा ऐसे दंपतियों की पहचान शुरू कर दी गई है जो पीएम सम्मान किसान निधि योजना (PMKSY) का अलग-अलग लाभ एक ही घर में रह कर ले रहे हैं. बता दे कि पहचान का काम पूरा होने के बाद तुरंत इनको किसान निधि योजना से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा. गाइडलाइन के अनुसार पति-पत्नी में से केवल एक को ही पीएम किसान निधि के ₹2000 मिलेंगे.

 

जाने, किन लोगों को दिखाया जाएगा किसान निधि योजना से बाहर का रास्ता 

बता दे कि ऐसा भी हो सकता है कि जो दंपत्ति पैसे ले चुके हैं सरकार उनसे रिकवरी भी कर ले. सरकार ने गत दिनों में 3000 से अधिक किसानों को प्रधानमंत्री किसान निधि योजना से बाहर कर दिया है, जो आयकर दाता है.  सरकार ने इनसे रिकवरी करने के आदेश भी जारी किए हैं. सरकार द्वारा जो नियम बताए गए हैं उनमें कोई भी आयकर दाता प्रधानमंत्री किसान निधि सम्मान योजना का लाभ नहीं ले सकता. गत दिनों आयकर दाता किसानों की सम्मान निधि बंद कर दी गई थी. अब पति पत्नी में से एक को निधि देने के लिए सरकार की तरफ से तैयारियां शुरू कर ली गई है.

यह भी पढ़े   एक क्लिक पर पंचायतों का लेखा-जोखा होगा आपके सामने, जाने क्या है योजना

बता दें कि 1 दिसंबर 2018 को केंद्र सरकार ने योजना की शुरुआत की थी. इसके तहत हर किसान को सरकार की तरफ से किसान सम्मान निधि योजना के तहत ₹6000 प्रति वर्ष प्रत्येक पात्र किसान को तीन किस्तों में दिए जाएंगे. राशि सीधे किसानों के खातों में भेजी जाएगी. इस योजना की शुरुआत से पहले दिसंबर 2018 में केंद्र सरकार द्वारा स्पष्ट गाइडलाइन जारी नहीं की गई, कि इस योजना का लाभ किसे दिया जाएगा और किसे नहीं. जिसकी वजह से किसानों ने इस योजना में पंजीकरण करवा लिया. फरवरी 2019 में योजना का लाभ मिलना उस समय शुरू हुआ जब किसानों के बैंक खातों में  2-2000 रूपये जमा हुए.

यह भी पढ़े   हरियाणा के किसानों की बल्ले-बल्ले, बाजरे की खेती छोड़ने पर मिलेंगे 4000 रुपए

About Monika Sharma