Breaking News

लॉकडाउन का हुआ सकारात्मक प्रभाव, पॉजिटिविटी रेट 31.5 से घटकर हुआ 2 फीसद

बहादुरगढ़ । करोना महामारी ने दूसरी लहर में जो तांडव मचाया है वह सर्वविदित है. खास तौर पर अप्रैल और मई के महीने में कोरोना संक्रमित होने वालों का आंकड़ा और उससे होने वाली मौतों का आंकड़ा दिल दहलाने वाला था.

अप्रैल की शुरुआत में सिंपल पॉजिटिविटी रेट 7 फीसद था, जो बढ़ता-बढ़ता मई की शुरुआत में साढे 31 फीसद तक पहुंच गया. कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में मई का महीना खत्म होते-होते काफी गिरावट आई है. सैंपल पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो यह अब कम होते होते 2% तक रह गई है.

यह भी पढ़े   बड़ी घोषणा: कोरोना संक्रमित परिवारों को मिलेंगे ₹5000, बस करना होगा ये काम

अप्रैल के पहले सप्ताह में 7 फीसद, दूसरे में 13.2 फीसद, तीसरे में 18.5 और चौथे सप्ताह में 19 फीसद के बाद महीने के आखिरी 2 दिन में 30% तक सैंपल पॉजिटिविटी रेट पहुंच गई थी. लेकिन मई के महीने में इसमें एकदम से गिरावट भी देखी गई है. मई के पहले सप्ताह में 31.5, दूसरे में 14.73, तीसरे में 5.25 और चौथे सप्ताह में घटकर 2.08 फीसद रह गई.

सैंपल पॉजिटिविटी रेट में अचानक से आई इस गिरावट का कारण सरकार द्वारा लगाया गया लॉकडाउन भी रहा .है जहां लॉकडाउन के दौरान सरकार ने तमाम तरह की पाबंदियां लगाई, जिससे कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सका. यही कारण है प्रतिदिन मिलने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई. स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि कोरोना के बचाव के लिए जो गाइडलाइन जारी की गई है उनका पालन करने से खुद को कोरोना से बचाया जा सकता है.

यह भी पढ़े   निजी अस्पतालों पर बैठाई गई जांच टीम ने किये चौकाने वाले खुलासे, हैरान करने वाले आकड़े

About Rohit Kumar