Breaking News

हिसार के विज्ञानियों का कारनामा, इंसानों की तरह पशुओं में गर्भ जांच के लिए बनाई टेस्ट किट, खर्च मात्र 10 रुपये

हिसार । हिसार स्थित केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. विज्ञानियों ने पशुओं में गर्भ जांच किट तैयार कर ली है. बता दें कि इस किट को केंद्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने वर्चुअल कार्यक्रम में लांच किया. बता दें कि यह किट इंसानों की प्रेगनेंसी किट की तर्ज पर ही काम करेगी. अभी तक ऐसी कोई भी किट नहीं थी.

वैज्ञानिकों ने पशुओं में गर्भ जांच के लिए तैयार की किट  

आमतौर पर देखा गया है कि पशुपालक पशुओं की प्रेगनेंसी को लेकर बहुत चिंतित रहते हैं. क्योंकि गांव में गर्भ जांच लगभग तीन चार महीने पर ही की जाती है. जो पशुओं के लिए काफी नुकसान दाई रहता है. अब यहीं प्रेगनेंसी 20 दिन में चेक हो पाएगी. कृषि मंत्री ने सीआईआरबी के निर्देशक टेस्ट किट की खोज करने वाले डॉक्टर अशोक बल्हारा और उनकी टीम की सराहना की है. बता दें कि किट तैयार करने वाली टीम में डॉक्टर अशोक बल्हारा,डॉक्टर सुशील पुलिया, डॉ राकेश शर्मा,डॉक्टर सुमन और डॉक्टर अशोक मोहंती है.

यह भी पढ़े   पिता को जेल से निकालने का झांसा देकर, युवती के साथ किया गंदा काम

डेयरी पशुओं से उनके जीवन काल में ज्यादा दूध उत्पादन लेने के लिए उनका जल्दी गाभिन होना एवं गर्भ जांच होना बहुत आवश्यक है. डेयरी पशु का एक ताव चक्र बगैर गाभिन रहे छूट जाए, तो किसान को लगभग 5000 से 9000 तक का नुकसान हो जाता है. इस किट  के प्रयोग से 20 दिन में गर्भ का पता किया जा सकता है. इसमें केवल पशुओं के थोड़े से मूत्र की आवश्यकता होती है. इस किट के लिए किसानों को केवल ₹10 खर्च करने की आवश्यकता है.

यह भी पढ़े   हरियाणा के प्राइवेट स्कूल, शिक्षा विभाग और सरकार के खिलाफ शुरू करेंगे असहयोग आंदोलन

About Monika Sharma