Breaking News

इस बार लंबा चलेगा मानसून का स्‍पैल, होगी जमकर बारिश, महज 10 दिन में केरल से पहुंचा हरियाणा

करनाल । हरियाणा में मानसून ने 14 दिन पहले एंट्री कर ली है . बता दे कि अबकी बार मानसून का फ्लो पैटर्न जल्दी बन गया. केरल में यह 3 जून को आया था. मानसून को हरियाणा तक पहुंचने में महज 10 दिन का समय लगा. सामान्य तौर पर मानसून को इस सफर को पूरा करने में 30 से 35 दिन लगते हैं. मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार जल्दी आने के कारण मानसून स्पेल लंबा चलेगा. हरियाणा समेत देश के उत्तरी हिस्से में 101% बारिश का अनुमान है.

हरियाणा में 14 दिन पहले मानसून ने दी दस्तक

बता दे कि हरियाणा में मानसून सीजन में 460 एमएम बरसात सामान्य मानी जाती है. जब की साल भर की 80% से ज्यादा मानसून की बरसात होती है. जल्दी मानसून आने के पीछे 11 जून को बंगाल की खाड़ी में बने मजबूत निम्न दबाव को, इसका कारण माना जा रहा है. सशक्त हुए निम्न दबाव के कारण ही मानसून ने तेजी से उतरी उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के रास्ते हरियाणा में प्रवेश किया. बता दें कि पिछले साल भी मॉनसून ने इसी रास्ते से प्रदेश में दस्तक दी थी. अभी मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले 20 सालों में ऐसा पहली बार हुआ है जब मॉनसून ने 13 जून को ही दस्तक दे दी. साल 2008 में भी इसी तारीख कोई मॉनसून ने दस्तक दी थी.

यह भी पढ़े   2 दिन की देरी के साथ केरल में मानसून ने दी दस्तक, जाने हरियाणा में कब पहुंचेगा और कितनी होगी बारिश

जब प्रदेश में अनुमानित 14 परसेंट अधिक बरसात हुई थी. बता दें कि पिछले 24 घंटों में यमुनानगर,अंबाला, पंचकूला समेत उत्तर हरियाणा के कई जिलों में मॉनसून की वजह से बरसात हुई है. अगले 48 घंटों में मॉनसून पूरे प्रदेश को कवर कर सकता है. 15 व 16 जून को हरियाणा और चंडीगढ़ के कई इलाकों में भारी बारिश और आंधी की संभावना है. प्रदेश में इस समय मानसून की दस्तक से किसान वर्ग को बड़ा फायदा मिलेगा. हरियाणा में 15 जून से धान रोपाई का काम शुरू हो जाता है और ऐसे समय में पानी की अधिक आवश्यकता होती है. ऐसे में इस बार मॉनसून पहले ही आ गया, जिसकी वजह से बरसात होगी, धान रोपाई के लिए ट्यूबल पर ज्यादा निर्भर नहीं रहना पड़ेगा.

यह भी पढ़े   हरियाणा में 10 दिन की देरी के साथ मानसून देगा दस्तक, इस दिन होगी बारिश

About Monika Sharma