Breaking News

मानसून की बढ़ी रफ्तार, हरियाणा में टूट सकता है रिकॉर्ड, 24 घंटे में राहत

करनाल ।  मानसून की बरसात का इंतजार प्रदेशवासियों के लिए लंबा होता जा रहा है. मौसम विभाग का मानना है कि मानसून की सक्रियता जुलाई के दूसरे सप्ताह में बढ़ सकती है. संभावना है कि 10 जुलाई के बाद मानसून की हवाएं चलनी शुरू हो जाए. 8 से 10 जुलाई के बीच प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में धूल भरी आंधी व बारिश आने की संभावना बनी हुई है. जिससे लोगों को गर्मी से आंशिक राहत मिलेगी.

मॉनसून के लिए अभी और करना होगा लोगों का इंतजार

वहीं यदि देश भर में मॉनसून के शुरुआती महीनों की बात करें तो मॉनसून का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा. जून का महीना देश के मध्य और पूर्वी हिस्सों में समान वितरण के साथ लंबी अवधि के औसत 110 फीसदी के साथ समाप्त हुआ. उत्तर भारत में मॉनसून सामान्य जुलाई के पहले सप्ताह में आगे बढ़ता है. मानसून के आगमन में थोड़ी देरी के बावजूद, प्री मॉनसून गतिविधि ने पंजाब,हरियाणा, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में सामान्य बारिश की है.

यह भी पढ़े   अभी बारिश की उम्‍मीद न के बराबर, इस वजह से हरियाणा के मौसम में हुआ अचानक बदलाव

जमकर होगी बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक देश के मध्य और पूर्वी भागों में अपेक्षित सीमा से अधिक बरसात हुई है. बिहार मे 111 प्रतिशत और पूर्वी उत्तर प्रदेश में 89% से अधिक बरसात हुई है. वहीं पश्चिम बंगाल में महीने के दौरान 44 फीसदी की बरसात दर्ज की गई. मौसम विभाग के अनुसार जून का महीना कभी भी मानसून के मौसम का एक सटीक संकेत नहीं रहा है. जुलाई और अगस्त के आगामी मुख्य मानसून महीनों के लिए इस पर भरोसा नहीं किया जा सकता. मानसून आमतौर पर मौसम के सभी 4 महीनों में ना तो सफल होने और ना ही उत्कृष्ट होने का दावा कर सकता है.

यह भी पढ़े   पहाड़ों में बारिश को लेकर अलर्ट, हरियाणा में मानसून को लेकर तरसे लोग

About Monika Sharma