Breaking News

WhatsApp ने किया अपनी पॉलिसी वापस लेने से इनकार, हो सकता है बैन

नई दिल्ली । WhatsApp ने सरकार के दबाव को नज़रअंदाज़ करते हुए अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को वापस लेने से इंकार कर दिया है. दरअसल WhatsApp ने कहा था कि 15 मई तक जो लोग उनकी प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करेंगे, उनके WhatsApp से धीरे-धीरे फीचर कम होते जाएंगे. ग्राहकों की निजता और डेटा की सुरक्षा को देखते हुए सरकार ने WhatsApp को अपने नए नियमों को वापस लेने को कहा था, जिसके लिए अब व्हाट्सएप ने इंकार कर दिया है.

क्या है पूरा मामला, समझें

दरअसल 15 मई से व्हाट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लागू करने के लिए कहा था. WhatsApp ने कहा था कि जो लोग 15 मई तक नहीं प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करेंगे, उनके WhatsApp के कुछ फंक्शन काम करना बंद कर देंगे, लेकिन WhatsApp पूरी तरीके से बंद नहीं होगा. वहीं कुछ उपभोक्ताओं ने ऐसी शिकायतें ही दर्ज कराई कि 15 मई के बाद जब उन्होंने पॉलिसी एक्सेप्ट की, उसके बाद उनके ऑडियो और वीडियो कॉल करने में परेशानियां आईं.

यह भी पढ़े   अगर आपको मैदा है पसंद तो हो जाए सावधान, सेहत के लिए हानिकारक है मैदा

WhatsApp के ऐसी घोषणा करने के बाद सरकार हरकत में आई और सरकार ने WhatsApp को अपनी पॉलिसी वापस लेने को कहा. WhatsApp के ऊपर सरकार, फेयरप्ले रेगुलेटर कंपटीशन कमीशन और कोर्ट ने दबाव बनाया. दबाव के चलते WhatsApp ने कहा कि पॉलिसी एक्सेप्ट नहीं करने की सूरत में हालांकि WhatsApp के फीचर्स कम नहीं किए जाएंगे, लेकिन यूजर को पॉलिसी एक्सेप्ट करने की रिमाइंडर बार-बार भेजे जाएंगे.

WhatsApp ने यह छूट तब तक देने के लिए कहा है जब तक सरकार की तरफ से पर्सनल डाटा प्रोटक्शन कानून प्रभावी नहीं हो जाता. ग्राहकों का डाटा इस्तेमाल करने के संबंध में WhatsApp का कहना है कि ओला, ट्रूकॉलर, ज़ोमैटो और आरोग्य सेतु एप जो डाटा यूजर्स का इस्तेमाल करती है, वहीं डाटा हम भी इस्तेमाल कर रहे हैं, तो उन में फर्क क्या है. कंपनी ने कहा फर्क सिर्फ इतना है हम ग्राहकों को बताकर उनका डाटा ले रहे हैं.

यह भी पढ़े   हिसार लाठीचार्ज मामले में प्रशासन और पुलिस में समझौते के बाद किसानों पर केस क्यों- अरोड़ा

About Rohit Kumar