Breaking News

अंबाला की महिला ने भोपाल में विधायक के बंगले में लगाई फांसी, एक को छोड़ा ,एक ने छोड़ दिया, तीसरे के चक्कर में गवाई जान

अंबाला । 39 साल की सोनिया भारद्वाज अंबाला के बलदेव नगर इलाके के सेठी एनक्लेव में रहती थी.  उसके साथ उसकी मां भी रहती थी. पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के भोपाल स्थित आवास पर उसने आत्महत्या कर ली. दरअसल उमंग सिंघार  कमलनाथ की सरकार में मंत्री रह चुके हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार उमंग सिंघार के बंगले पर उनकी महिला मित्र ने फांसी लगाकर जान दे दी. बताया जा रहा है कि महिला बहुत ऊंचे ख्वाब रखती थी. अपनी निजी जिंदगी उसे पसंद ना थी.इसीलिए उसने अपने पति को छोड़कर दूसरी शादी की लेकिन वो रिश्ता भी टूट गया.

पति को छोड़ा लेकिन बेटे से करती थी प्यार

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोनिया और सिंघार की मुलाकात कुछ दिन पहले एक मेट्रोमोनियल वेबसाइट के जरिए हुई थी. दोनों ने तय भी किया था कि जल्द ही शादी करेंगे. सोनिया का अपने पति से तनाव चल रहा था लेकिन फिर भी वह अपने बेटे को पढ़ा रही थी. उसका बेटा आर्यन शिमला में होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर रहा है.

यह भी पढ़े   CM खट्टर के जनता दरबार में उद्यमियों ने लगाई गुहार, कहा- टिकरी बॉर्डर का रास्ता खुलवाइए

सिंघार  के लिए छोड़ी थी इमीग्रेशन की जॉब

जानकारों ने बताया कि सोनिया का पहला पति संजीव था, जिसे छोड़कर उसने दूसरे व्यक्ति से शादी की थी, जो कि बंगाल का रहने वाला था.लेकिन शादी के बाद उसने भी उसे छोड़ दिया. दूसरी शादी के बाद सोनिया ने लैक्मे में काम किया. कुछ महीनों पहले ही सोनिया ने इमीग्रेशन की जॉब छोड़ दी और भोपाल की एक मार्केटिंग कंपनी में काम करने के लिए चली गई. वहां पर उसकी मुलाकात कांग्रेसी नेता उमंग सिंघार से हुई.

यह भी पढ़े   बड़ी घोषणा: जुलाई में खोले जाएंगे स्कूल, बिजली बिल भी होंगे माफ

दोनों में घनिष्ठ मित्रता भी हो गई और जल्द ही दोनों आपस में शादी करना चाहते थे. लेकिन इस तरीके से सोनिया का आत्महत्या कर लेना सवालों के घेरे में आ गया है. हालांकि पुलिस को सोनिया के शव के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है.लेकिन उस सुसाइड नोट में सीधे-सीधे किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है. फिलहाल सोनिया के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है.

About Rohit Kumar